समर्थक

शुक्रवार, 14 मार्च 2014

''पति-पत्नी ''-लघु-कथा



आज अमर जब ऑफिस से घर लौटा तो पाया रिया भी ऑफिस से आ चुकी थी . अमर ने घर में घुसते ही कहा -'' मैडम आज मेरे पास एक गुड न्यूज है .'' अमर की इस बात पर रिया चहकते हुए बोली -'' और मेरे पास भी ..!'' अमर ने अपना बैग और कोट उतार कर सोफे पर रखा और बोला -''दैट्स वंडरफुल ...चलो पहले तुम सुनाओ ..लेडीज़ फर्स्ट !'' रिया मुस्कुराते हुए बोली ''..नो ..पहले तुम सुनाओ ..हसबैंड फर्स्ट !'' अमर ने सहमति में गर्दन हिलाते हुए कहा -'' ओ.के. ..तो सुनिये  मैडम ..मेरा प्रमोशन हो गया है !'' रिया ये खुशखबरी सुनकर तपाक से बोली -'' आई न्यू दिस ...आखिर तुम हो ही इतने बुद्धिमान !'' अमर ने टाई की नॉट ढीले करते हुए कहा -'' थैंक्स मैडम ...अब आप भी अपनी गुड न्यूज सुना ही दीजिये .'' रिया ने उत्साही स्वर में कहा -'' जनाब मुझे भी प्रमोशन मिला है !'' अमर रिया की इस खुशखबरी पर तारीफ के रैपर में तानें की टॉफी खिलाते हुए बोला -'' हां..हाँ भाई ..क्यूँ न होता तुम्हारा प्रमोशन ..तुम खूबसूरत ही इतनी हो !!!''

शिखा कौशिक 'नूतन'  

3 टिप्‍पणियां:

Shalini Kaushik ने कहा…

true fact of life.

Kailash Sharma ने कहा…

संकुचित मानसिकता का बहुत प्रभावी चित्रण...

Vaanbhatt ने कहा…

शादी भी तो भाई ने कुछ देख कर ही की होगी...